मालाबार अभ्यास 2019

मालाबार अभ्यास 2019

त्रिपक्षीय समुद्री अभ्यास मालाबार का 23वां संस्करण 26 सितंबर से 04 अक्तूबर 2019 तक जापान के तट पर भारत, जापान और अमेरिका की नौसेनाओं के बीच आयोजित किया जाएगा। इस अभ्यास में भाग लेने के लिए, दो सीमावर्ती स्वदेशी रूप से डिज़ाइन और निर्मित भारतीय नौसेना पोत, बहुउद्देशीय निर्देशित मिसाइल फ्रिगेट सह्याद्री और एएसडब्लू कोर्वेट किल्तन, रियर एडमिरल सूरज बेरी, फ्लैग ऑफिसर पूर्वी बेड़ा कमान के साथ 25 सितंबर 2019 को सासेबो पहुँचे। पोतों के अलावा, इस अभ्यास के लिए 'पी8आई' लंबी दूरी का समुद्री गश्ती विमान भी जापान पहुँचा। अमेरिकी नौसेना का प्रतिनिधित्व यूएसएस मैककैम्पबेल, लास एंजिलिस-श्रेणी की हमलावर पनडुब्बी और 'पी8ए' लंबी दूरी के समुद्री गश्ती विमान द्वारा किया जा रहा है। जेएमएसडीएफ अपने इजुमो श्रेणी के हेलिकॉप्टर विध्वंसक जेएस कागा, निर्देशित मिसाइल विध्वंसक जेएस समिदेर और चौकाई और एक 'पी1' लंबी दूरी के समुद्र गश्ती विमान के साथ भाग लेगी।

मालाबार 2019 से भारत - जापान - अमेरिका नौसेना के बीच सहयोग को और मजबूती देने और साझा मूल्यों और सिद्धांतों के आधार पर इंटरऑपरेबिलिटी को बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। इस अभ्यास में सतह, उप-सतह और हवा में जटिल समुद्री परिचालनों का आयोजन किया जाएगा, और पनडुब्बी रोधी युद्ध, हवा रोधी और सतह रोधी फायरिंग, मुआयना सवारी खोज और जब्ती और सामरिक परिदृश्य आधारित समुद्री अभ्यास सहित समुद्री अंतर्क्रिया परिचालनों पर ध्यान दिया जाएगा। इसके अलावा, साझेदार नौसेनाएं आधिकारिक प्रोटोकॉल दौरों, विषय-वस्तु पर विशेषज्ञों के विचार-विमर्श, एक दूसरे के पोतों के दौरों, खेलकूद के कार्यक्रमों और बंदरगाह चरण के दौरान सामाजिक कार्यक्रमों सहित पेशेवर बातचीत का आयोजन करेंगी।

इस अभ्यास में भारतीय नौसेना और विमान की भागीदारी तीनों देशों के बीच दोस्ती के मजबूत समुद्री बंधन को महत्वपूर्ण रूप से बढ़ावा देगी और इस क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता में योगदान देगी।

  • https://www.indiannavy.gov.in/
  • https://www.indiannavy.gov.in/
  • https://www.indiannavy.gov.in/
Back to Top